Monday, April 22, 2024
Homeछत्तीसगढ़परिणय सूत्र में बंधे चैतन्य और ख्याति, पाटन के सर्किट हाउस में...

परिणय सूत्र में बंधे चैतन्य और ख्याति, पाटन के सर्किट हाउस में आशीर्वाद समारोह कल, रुट तय पार्किंग की भी अलग व्यवस्था

रायपुर/दुर्ग। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पुत्र चैतन्य बघेल और ख्याति वर्मा रविवार को परिणय सूत्र में बंध गए। नया रायपुर में भव्य रूप से शादी समारोह आयोजित हुआ। इसके बाद अब 8 फरवरी को पाटन में दुर्ग जिले के रहवासियों के लिए पुत्र व पुत्र वधू के लिए आशीर्वाद समारोह आयोजित किया जा रहा है। सर्किंट हाउस स्थल में भव्य समारोह की तैयारी की जा रही है।

यहां चल रही तैयारियों का जायजा लेने पिछले दिनों खुद CM भूपेश बघेल गए थे। उन्होंने आशीर्वाद समारोह स्थल मुआयना कर कई जरूरी दिशा-निर्देश भी दिए थे। जिला प्रशासन यहां की चाक-चौबंद व्यवस्था करने में लगा हुआ है। समारोह में आने वाले लोगों को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो, इसके लिए दुर्ग पुलिस ने भी तगड़े इंतजाम किए हैं।

अतिथियों के लिए क्षेत्रवार रूट तय

दुर्ग पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, पाटन रूट में 8 फरवरी को भारी वाहन के संचालन को पूरी तरह से रोक दिया गया है। इस समारोह में काफी बड़ी संख्या में लोगों को आमंत्रित किया गया है। इसलिए लोगों को किसी तरह की कोई परेशान न हो इसे देखते हुए अलग-अलग समय में अलग-अलग क्षेत्र के आगंतुकों को बुलाया गया है। पुलिस प्रशासन की ओर से कहा गया है कि निर्धारित पार्किंग स्थल में ही वाहनों को खड़े करें। ताकि कोई दिक्कत की स्थिति निर्मित न हो।

दुर्ग भिलाई सहित इन क्षेत्रों के लोग इस रूट से पहुंचेंगे पाटन

दुर्ग, भिलाई, मरोदा, नेवई, उमरपोटी, बोरीगारका, जोरातराई, मोरीद, डुडेरा, माहकाखुर्द, परेवाडीह, माहकाकला, मुडपार, डुमरडीह,उतई, खोपली, घुपसीडीह, सिर्री, धौराभाठा, पतोरा, सेलूद, परसाही, गाडाडीह, मर्रा, सांकरा, बटंग, बोदल, फेकारी, बोहारडीह, मानिकचैरी, पुनईडीह, देवादा,छाटा,गोडपेण्ड्री, अचानकपुर, लोहरर्सी, ढोढापुर, अरसनारा, फुण्डा और देमार आदि क्षेत्र से पाटन जाने वाले लोगों को दुर्ग से भिलाई होते हुए नेवई, उतई, सेलूद और फुंडा होते हुए पाटन पहुंचना पड़ेगा।

इन क्षेत्र के लोग इस रूट से पहुंचेंगे पाटन

तमोरा, तिलोदा, मुदंरा, परसाही, रनचिरई, बोरवाय, खोला, औरी, भनसुली, जाम गांव आर, भरर, भैसबोर्ड, कुम्हली, पाउवारा, पौहा, गुडियारी, कानाकोट, आमालोरी, खपरी, बेलौदी, घुमा, सोरम, गब्दी, कुरमी, गुंडरा, दरबार मोखली, सेमरी, गुजरा, कसीही, नवागांव, पंदर, रीवागहन, बासींग, धमना, बटरेल, अरमर्रीखुर्द, आगेसरा, उमरपोटी, नवागांव, बेल्हारी, किकिरमेटा, ओदरागहन, अकतई, टेमरी, सुरपा, मोहभट्टा, निपानी, औसर, खपरी, चुलगहन, करेला, बीजाभाठा, घोराडी, पाहंदा, डिडगा, डिडगाभाठा, रानीतराई, कौही, बोरेंदा, जरवाय, असोगा, झाडमोखली, बरबरसपुर, रेंगाकठेरा, जरवाय, केसरा, भनसुली, खर्रा, तेलीगुंडरा, मटिया, रामपुर, डंगनिया, तर्रीघाट, खम्हरिया, अटारी, अखरा, कुम्हारी, रामपुर, जंजगिरी, दादर, चरोदा, सिरसाकला, देवबलोदा, कुगदा, परसदा, मगरघट्टा, मटिया, पाहंदा, उरला, बटंग, नारधी, औंधी, औरी, भाठागांव, अमलीडीह, मोतीपुर, सांकरा, अम्लेश्वर, खुडमुडा, घुघवा, जमराव, कोपेडीह, कापसी, माहुद, उफरा, अमेरी, जामगांव(एम), झीट, रूही, खुडमुडी, तुलसी, ठकुराईनटोला, सुपकोना, सोनपुर, पुरैना, सोमनी, गनियारी, पचपेडी, पहडोर, करसा, बेंदरी, घुघवा, गभरा, राखी, रवेली, तर्रा, आमपेण्ड्री, सावनी, चीचा, चंगोरी और बठेना के लोग अपने सामान्य रूट कुम्हारी से पाहंदा, मोतीपुर, झीट होते हुए सिकोला से पाटन पहुंचेंगे।

अलग-अलग बनाए गए पार्किंग स्थल

लोगों को वाहन पार्किंग में किसी प्रकार की कोई समस्या न हो इसके लिए अलग-अलग जगहों पर पार्किंग स्थल बनाए गए हैं। अलग-अलग रूट से आने वाले लोग एसडीएम कार्यालय परिसर, जनपद पंचायत कार्यालय परिसर, गर्ल्स स्कूल के सामने/अंदर और पाटन मंडी परिसर में अपने वाहनों को पार्क कर सकते हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments