Thursday, May 23, 2024
Homeदेशस्किन टू स्किन टच मामले में विवादित फैसला देकर चर्चा में आईं...

स्किन टू स्किन टच मामले में विवादित फैसला देकर चर्चा में आईं न्यायाधीश पुष्पा गनेडीवाला ने दिया इस्तीफा

मुंबई। स्किन टू स्किन टच मामले पर फैसला देकर चर्चा में आईं बॉम्बे हाईकोर्ट की न्यायाधीश पुष्पा गनेडीवाला ने अपना इस्तीफा दे दिया है। न्यायाधीश पुष्पा गनेडीवाला का आज आखिरी कार्यकाल दिन होगा। हालांकि वे 12 फरवरी को रिटायर होने वाली थीं। कानूनी जानकारों की माने इस इस्तीफे के बाद वे हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट में अपनी प्रैक्टिस कर सकेंगी। सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने जस्टिस गनेडीवाला के नाम की स्थायी जज के रूप में सिफारिश नहीं करने का फैसला किया था।

बता दें कि पुष्पा गनेडीवाला ने पॉक्सो (POCSO) मामले पर फैसला सुनाते हुए ‘स्किन टू स्किन’ टच सहित कुछ विवादास्पद निर्णय दिए थे। उनके फैसले के मुताबिक, अगर आरोपी और पीड़ित के बीच ‘स्किन-टू-स्किन’ यानी त्वचा से त्वचा का संपर्क नहीं हुआ है तो पॉस्को कानून के तहत यौन उत्पीड़न का कोई अपराध नहीं बनता है।

पुष्पा गनेडीवाला ने एक नाबालिग को गलत तरीके से छूने के आरोप से बरी कर दिया था। उन्होंने अपने फैसले को इस आधार पर सुनाया था कि नाबालिग लड़की को बिना कपड़ा हटाए छूना POCSO अधिनियम के तहत अपराध नहीं है, क्योंकि स्किन टू स्किन संपर्क नहीं हुआ। ये फैसला 19 जनवरी 2020 को पारित किया गया था।

0.जस्टिस गनेडीवाला के फैसले को सुप्रीम कोर्ट ने किया था रद्द

बीते 18 नवंबर 2021 को सुप्रीम कोर्ट ने यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण (POCSO) अधिनियम के तहत यौन उत्पीड़न प्रावधानों की जानकारी देते हुए जनवरी 2020 में पारित जस्टिस गनेडीवाला के दो फैसलों को रद्द कर दिया था।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments