Friday, February 23, 2024
HomeBreakingBreaking : 75 दिन बाद शराब दुकान में हत्या करने वाले  पति-पत्नी...

Breaking : 75 दिन बाद शराब दुकान में हत्या करने वाले  पति-पत्नी और बेटा गिरफ्तार.. 100 से ज्यादा व्यक्तियों से पूछताछ और इतने नंबरों के काल डिटेल के बाद खुला राज…

जांजगीर-चांपा। चांपा के ग्राम सिवनी शराब दुकान में चर्चित दो गार्ड की बेरहमी से हत्या मामले को पुलिस ने सुलझा लिया है। घटना के ढाई माह बाद आखिर कार नकाबपोश हत्यारे को गिरफ्तार कर लिया गया है। हत्यारा इतना शातिर था कि हत्या के दौरान अपने चेहरे को नकाब से ढका हुआ था, ताकि उसकी पहचान ना हो सके। पुलिस ने पिछले दिनों आरोपी का सुराग बताने वालों के लिए पांच हजार का इनाम देने की घोषणा की थी।

ये सनसनीखेज डबल मर्डर की घटना थाना चांपा, ग्राम सिवनी के शराब दुकान की। ग्राम सिवनी गांव में 4 नवम्बर (शनिवार) की रात डेढ़ बजे नकाबपोश हाथ मे कुल्हाड़ी लेकर पहुंचा और शराब दुकान के सो रहे गार्ड यदुनंदन पटेल और जयकुमार सूर्यवंशी के सिर पर ताबड़तोड़ हमला कर हत्या कर दी। घटना में दोनों की मौके पर ही मौतो गई। आरोपी दुकान में लगे सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि शराब दुकान के अंदर घुसकर गल्ले से नगदी और महंगी शराब की बोतल लेकर फरार हो गया। इस घटना ने पूरे जिले को हिलाकर रख दिया था। घटना की सूचना के बाद जांजगीर पुलिस के आला-अधिकारी मौके पर पहुंचे और सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया। इसी दौरान सीसीटीवी में एक नकाबपोश दिखा, जिसके हाथ में कुल्हाड़ी थी और शराब दुकान के अंदर गल्ले से नगदी व शराब की बोतलें रख रहा था, चुकीं हत्यारे ने चेहरे को पूरी तरह ढका हुआ था, इसलिए उसकी पहचान करना जांजगीर पुलिस के लिए काफी चुनौतीपूर्ण था।

7,40,500 नंबरों और 100 से ज्यादा व्यक्तियों से पूछताछ

एसपी विजय अग्रवाल ने घटना को गंभीरता से लिया और इसके लिए एक बडी टीम गठित कि गई। टीम ने घटनास्थल एवं आस-पास के सीसीटीव्ही फूटेज, का तकनीकी विशेषज्ञों द्वारा गहन जांच किया। घटनास्थल एवं आसपास के इलाके सिवनी, पिसौद, हथनेवरा, बरबसपुर, गोविंदा, कर्रा मोड़ आदि स्थानों का टावर डंप लिया गया।लगभग घटनास्थल से संबंधित 7,40,500 नंबरों के गतिविधियों की पुष्टी हुई जिसके आधार पर लगभग 386 सिम नंबरों का कॉल डिटेल रिकार्ड खंघाल कर लगभग 714 मोबाईल नंबरों को तस्दीक की गई। 100 से ज्यादा व्यक्तियों का बयान लिया गया।

5 हजार का इनाम

पुलिस की विशेष टीम द्वारा लगातार घटनास्थल तथा संदेहास्पद स्थानों में लगातार कैंप कर घटना करने वाले अज्ञात आरोपी की पता तलाश की जा रही थी। समय के साथ घटना पुरानी होती जा रही थी, लेकिन पुलिस की लगातार सक्रियता बनाये रखने तथा तकनीकी विशेषज्ञों द्वारा लगातार प्रत्येक मोबाईल नंबरों पर नजर रखी जा रही थी। घटना के बारे में जानकारी देने वाले को नगद पुरूस्कार की भी घोषणा की गई और घटना का वीडियों भी जारी किया गया था। वीडियों को पुलिस द्वारा आमजन में प्रसारित किया गया।

 

ऐसे पकड़ाए आरोपी

इस बीच 17 जनवरी को मुखबीर द्वारा घटना में शामिल आरोपियों की जानकारी दी गई। जानकारी मिलते ही पुलिस ने संदेही शिवशंकर उर्फ मुन्ना सहिस पिता सहनी राम चौहान 29 साल निवासी सुखरी फाटक को पकड़ा गया और कड़ाई से पूछताछ की गई।

पति पत्नी और बेटे ने योजना के तहत दिया था घटना को अंजाम

आरोपी ने बताया कि शराब दुकान को लूटने के लिए अपने पत्नी के पहले पति के बेटे कृष्णा सहिस 21 साल एवं उसकी पत्नी मंगली उर्फ माला सहिस उम्र 45 साल के साथ मिलकर नकाब पहन कर घटना की योजना बनाई थी। प्लानिंग के तहत ही चार नवम्बर को अपनी पत्नी मंगली सहिस उर्फ माला सहिस साल तथा उसके पहले पति अजय सहिस के बेटे कृष्णा सहिस के साथ मिलकर शराब दुकान को लूटने निकले।

पहचान छुपाने नकाब का सहारा, कुत्ते को बिस्किट

पहचान छुपाने चेहरे को कैमोफ्लाईज करने काले कपड़े का नकाब बनाकर 4-5 नवंबर की रात 12 बजे घर से निकलकर रेल्वे ट्रैक के रास्ते होते हुए शराब दुकान सिवनी पहुंचे। जहॉ इसके बेटे कृष्णा ने घटनास्थल शासकीय शराब दुकान सिवनी पर लगातार रहनेे वाले कुत्तों को बिस्किट खिलाने लगा। आरोपी शिवशंकर नकाब पहनकर हाथ में टंगिया लेकर शराब दुकान पहुंचा और दोनों गार्डो के सोने का इंतजार करने लगा।

12ः20 बजे दोनो गार्ड जब सो गये तो 12ः50 को उनके सिर पर टंगिये से वार कर उनकी हत्या कर दी। हत्या के बाद दुकान का ताला टंगिये से तोडने लगा, इसी बीच एक अंजान व्यक्ति शराब के नशें में वहां आ गया, जिसे मुन्ना सहिस ने पकडकर वापस बाहर रोड़ की तरफ छोड़ दिया। इसके बाद फिर से दूकान का ताला तोड़कर अंदर घुसकर कांउटर के पास रखे पैसों को चुरा लिया। अंग्रेजी शराब दुकान का भी ताला तोड़कर अंग्रेजी शराब दुकान से 2 नग महँगी शराब चुरा लिया और वहॉ से दोनो वापस अपने घर आ गये।

पुलिस ने घटना में उपयोग किये गए टंगिया, पाना, नकाब, को घर में छुपा दिया था। आरोपी चुराये हुए पैसों को धीरे-धीरे खर्च करता रहा। इस बीच वह जिला सक्ती के डभरा क्षेत्र में तथा उसका पुत्र कृष्णा बम्हनीडीह थाना क्षेत्र में एवं पत्नी माला सिवनी में निवास करते रहे। सभी आरोपीयों का पृथक-पृथक मेमोरण्डम दर्ज किया गया व घटना में प्रयुक्त हथियार, पाना, नकाब, पहने कपड़े, ताला, चुराई गई शराब की खाली बोतल व 4500 नगदी रकम को जब्त किया गया। विवेचना के दौरान आरोपियों के विरूद्ध थाना चाम्पा में अपराध क्रमांक 537/2023 धारा 302, 460, 120बी, 34 भादवि के तहत् कार्यवाही की जा रही है।

दो गार्ड की हत्या को सुलझाने में अति0 पुलिस अधीक्षक अनिल सोनी के नेतृत्व में अनुविभागीय अधिकारी पुलिस यदुमणी सिदार चौकी प्रभारी नैला प्रशि0 उप पुलिस अधीक्षक संगम राम थाना प्रभारी चाम्पा निरीक्षक मनीष सिंह परिहार, सायबर सेल के निरीक्षक प्रवीण कुमार द्विवेदी, उप निरी. पारस पटेल, थाना प्रभारी मुलमुला सागर पाठक थाना प्रभारी सारागांव सत्यम चौहान चौकी पंतोरा प्रभारी सउनि दिलीप सिंह प्र.आर मनोज तिग्गा थाना चाम्पा के सउनि रामप्रसाद बघेल, म.प्र.आर.श्यामा जायसवाल प्र.आर. विरेन्द्र टण्डन, राकेश तिवारी, अजय चतुर्वेदी, आर. माखन साहू नितिन द्विवेदी, डीकेश्वर साहू, ईश्वरी राठौर, गौरीशंकर राय, शंकर सिह राजपुत, सायबर सेल से सउनि मुकेश पाण्डेय प्र.आर राजकुमार चंन्द्रा, बलबीर सिंह, विवेक सिंह, आरक्षक चिरंजीव कमलेश, गिरीश कश्यप, आनंद किशोर सिंह, रोहित कहरा, सिदार सिंह पैकरा, म.आर दिव्या सिंह का विशेष योगदान रहा।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments