Tuesday, February 27, 2024
Homeछत्तीसगढ़Chhattisgarh Budget Session: वित्त मंत्री ओपी चौधरी आज पेश करेंगे विष्णुदेव साय...

Chhattisgarh Budget Session: वित्त मंत्री ओपी चौधरी आज पेश करेंगे विष्णुदेव साय सरकार का पहला बजट, डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीम सहित इन योजनाओं पर फोकस

रायपुर। Chhattisgarh Budget Session: वित्त मंत्री ओपी चौधरी आज शुक्रवार 9 फरवरी को बजट विष्णुदेव साय सरकार का पहला बजट विधानसभा में पेश करेंगे। बजट राज्य सरकार की जीडीपी दोगुना करने के लक्ष्य को लेकर तैयार किया जा रहा है।

Chhattisgarh Budget Session: वित्त विभाग के सूत्रों के अनुसार बजट में युवाओं को रोजगार, कौशल विकास से जोड़ने पर फोकस रहेगा। डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर वाली केंद्रीय और राज्य सरकार की योजनाओं पर भी फोकस रहेगा।

Chhattisgarh Budget Session: अनुमान लगाया जा रहा है कि ग्रामीण इलाकों में लाइवलीहुड कालेज का विस्तार, माइक्रो एटीएम की पंचायत स्तर पर व्यवस्था करने पर बजट जारी किया जा सकता है। प्रदेश में नए इंडोर और आउटडोर स्टेडियम के निर्माण, छत्तीसगढ़ के स्थानीय और पारंपरिक खेलों को बढ़ावा देने, खिलाड़ियों को बेहतर प्रशिक्षण और सुविधाएं देने की स्कीमों को लांच किया जा सकता है। इसके अलावा महिलाओं और किसानों से जुड़ी योजनाओं के लिए बजट प्रावधान बढ़ाए जा सकते हैं।

Chhattisgarh Budget Session: बजट में प्रदेश में उद्योगों के विकास के लिए विशेष सब्सिडी पैकेज का ऐलान किया जा स​कता है। छत्‍तीसगढ़ चेंबर का कहना है कि प्रदेश में वन स्टेट वन लाइसेंस पालिसी पर काम होना चाहिए। बाहर से आने वाले उद्योगों को सबसे बड़ी परेशानी लाइसेंस बनाने में ही आती है और इसके लिए विभागों के चक्कर लगाने पड़ते हैं। प्रदेश के बजट में इसके लिए प्रावधान होना चाहिए।

Chhattisgarh Budget Session: इससे पहले विधानसभा में बजट सत्र के चौथे दिन गुरुवार को वित्त मंत्री ओपी चौधरी ने सरकार का आर्थिक सर्वेक्षण प्रस्तुत किया। पेश किए गए आर्थिक सर्वेक्षण के मुताबिक राज्य की प्रति व्यक्ति आय अब एक लाख 47 हजार 361 रुपए वार्षिक अनुमानित की गई है।

Chhattisgarh Budget Session: ये अनुमानित आंकड़ा वित्तीय वर्ष 2022-23 के एक लाख 37 हजार 329 रुपए के मुकाबले 7.31 प्रतिशत अधिक है। राज्य का जीएस़डीपी वित्तीय वर्ष 2022-23 में स्थिर भावों पर तीन लाख दो हजार 118 रुपये से बढ़कर वर्ष वर्ष 2023-24 में तीन लाख 21 हजार 945 करोड़ रुपए अनुमानित है, जो कि बीते वर्ष के मुकाबले 6.56 प्रतिशत अधिक है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments