Sunday, June 16, 2024
Homeछत्तीसगढ़CM का यूनियन नेताओ ने जताया आभार, बोनस को 4 डिजिट से...

CM का यूनियन नेताओ ने जताया आभार, बोनस को 4 डिजिट से 5 में पहुंचाया… बिजली कर्मियों में हर्ष ब्याप्त…

 

कोरबा। जान जोखिम में डालकर काम करने वाले बिजलीकर्मियों की गुहार सुनकर प्रदेश के कका यानी सीएम भुपेश ने 4 अंक में मिलने वाले बोनस को 5 अंक कर दिया है। कर्मचारियो को मिलने वाली अनुग्रह राशि की घोषणा के बाद यूनीयन के नेताओ ने कका को आभार ज्ञापित किया है।

 

बता दें कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पिछले दिनों बिजली कंपनी के कर्मचारियों को दिवाली बोनस की घोषणा की थी। उसके बाद से ही तैयारी जारी है। बताया गया कि पिछले वित्तीय वर्ष में 21 हजार रुपए मूल वेतन तथा महंगाई भत्ता के रूप में मासिक वेतन पाने वाले बिजली कर्मचारी बोनस पाएंगे। इस श्रेणी में नहीं आने वाले शेष बिजली कर्मियों को प्रोत्साहन राशि के तौर पर 11 हजार रुपए का भुगतान किया जाएगा। इस फैसले से इससे छत्तीसगढ़ पॉवर कंपनिया में काम कर रहे 16 हजार से अधिक कर्मचारी-अधिकारियों को फायदा होने वाला है। बोनस भुगतान से बिजली कंपनियों पर करीब 17 करोड़ का रुपए का अतिरिक्त वित्तीय भार आना है।

बोनस के लिए कौन-कौन पात्र

पिछले साल 21 हजार रुपए मूल वेतन और महंगाई भत्ता के रूप में मासिक वेतन प्राप्त करने वाले बिजली कर्मी बोनस के लिए पात्र होंगे। वहीं अन्य अधिकारी-कर्मचारियों को भी कार्यों में दक्षता बनाए रखने के लिए प्रोत्साहन स्वरूप रुपए 11 हजार की अनुग्रह राशि दी जाएगी। इससे पावर कंपनियों को लगभग 17 करोड़ रुपए का वित्तीय भार आएगा। बोनस अधिनियम 2005 के अनुसार नियोक्ता केवल नियमित और संविदा कर्मी को ही सीधे बोनस दे सकता है। यानि आउटसोर्सिंग के माध्यम से लगाए गए कर्मियों या दैनिक वेतन भोगी कर्मियों को उनके नियोक्ता ठेकेदार की ओर से ही बोनस दिया जाना है।

 

क्या कहना है यूनीयन के नेताओ का

भारतीय मजदूर संघ व उद्योग प्रभारी राधेश्याम जयसवाल का कहना है कि बिजली कर्मियों की मांग के अनुरूप उन्हें अनुग्रह राशि नहीं मिल पाया। फिर भी चलो नहीं मामा से काना ठीक है । मुख्यमंत्री का विद्युत कर्मियों की ओर ध्यान देने के लिए धन्यवाद।

 

विद्युत कर्मचारी संघ फेडरेशन कार्यकारी अध्यक्ष आर के पटेल ने कहा है कि पहली बार है जब कोई सीएम बिजली कर्मियों की सुध लिया है। अब तक सिर्फ नाम मात्र का अनुग्रह राशि मिलता था लेकिन प्रदेश के मुखिया किसान पुत्र ने मजदूरों की पीड़ा का ध्यान रखा और अनुग्रह राशि 4 डिजिट से 5 डिजिट पंहुचाया है।

 

विद्युत कर्मचारी जनता यूनियन महासचिव अजय बाबर का कहना है कि दीवाली में हर तरफ उल्लास रहता है मजदूरों को मिलने वाली अनुग्रह राशि से बाजार में रौनक बढ़ता हैं। ऐसे में बिजली कर्मियों को 11 हजार से बढ़ाकर बोनस दिया जाना था, पर खुशी के माहौल और अच्छे मन से बोनस राशि की घोषणा की गई है जो निश्चित ही तारीफे काबिल है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments