Sunday, June 16, 2024
HomeकोरबाKorba : जब 25 साल बाद मिले शिशु मंदिर के पूर्व विद्यार्थी...

Korba : जब 25 साल बाद मिले शिशु मंदिर के पूर्व विद्यार्थी तो भावुकता से भर गया सरस्वती का आंगन

0 सरस्वती उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कोरबा में वर्ष 1998 बैच के विद्यार्थियों ने मनाया रजत जयंती वर्ष

कोरबा। दशकों बाद जब हम किसी ऐसे से मिलते हैं, जिन्हें देखकर पुरानी यादें जीवंत हो जाएं, तो ऐसे क्षण स्मरणीय बन जाते हैं। और अगर यह मुलाकात उस जगह हो, जहां अनगिनत यादों का बसेरा है, तो भावुकता का समावेश हो ही जाता है। कुछ ऐसा ही नजारा शहर के सरस्वती उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सीतामढ़ी कोरबा में उस वक्त देखने को मिला, जब रजत जयंती वर्ष पर यहां के पूर्व छात्र-छात्राओं का सम्मेलन आयोजित हुआ। एक-दूसरे से 25 साल बाद हुई इस अनोखी भेंट पर उन्होंने उत्सुकता के साथ पुरानी यादें साझा की। कार्यक्रम के दौरान विद्यालय के शिक्षक भी इस मिलन को देख भावुक हुए बिना न रह सके।
विद्यालय में सन् 1998 में 12वीं पास करने वाले पूर्व छात्र-छात्राओं के लिए रजत जयंती वर्ष पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान उपस्थिति दर्ज कराते हुए इस बैच के भैया-बहनों ने उत्साह के साथ इस उत्सव में सहभागिता दी और धूमधाम से उत्सव मनाया गया। इस भावुक, आनंदमयी व हर्षाेल्लास के क्षण मे दूर-दूर से आए हुए विद्यालय के पूर्व एवं वरिष्ठतम विद्यार्थियों के साथ वर्तमान में अध्यापन कार्य कर रहे आचार्यों व दीदियों के मध्य अद्भुत संवाद देखने को मिला। भावुकता से भरे इस अपूर्व अवसर पर पूर्व छात्र-छात्राओं ने अपने बचपन के दिनों की याद ताजा की, जिससे विद्यार्थी जीवन के स्मरणीय पल पुनः जीवित होते महसूस हुए। संस्था के प्राचार्य विद्यानंद पांडेय ने इस अद्भुद सम्मेलन में सम्मिलित हुए पूर्व छात्रा-छात्राओं को हृदय से आशीर्वाद प्रदान करते हुए उनके और उनके परिवार के लिए मंगलकामना की।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments