Tuesday, July 16, 2024
HomeकोरबाKorba: SECL ड्रोन से करा रहा रिकार्डिंग.. ग्रामीणों ने लगाया "निजता" ...

Korba: SECL ड्रोन से करा रहा रिकार्डिंग.. ग्रामीणों ने लगाया “निजता” हनन का आरोप…

कोरबा ।सरपंच की अनुमति बगैर ग्राम में ड्रोन कैमरा से रिकार्डिंग कर निजता का हनन करने, हैवी ब्लास्टिंग पर रोक नहीं लगाने व पेयजल की समस्या निदान नहीं किए जाने पर गेवरा महाप्रबंधक केविरूद्ध एफआइआर दर्ज करने की मांग की गई है। कलेक्टर को सौंपे पत्र में ग्राम भिलाई बाजार के सरपंच चंद्रभान सिंह समेत अन्य प्रतिनिधियों ने उक्त कार्रवाई करने कहा है।

 


उन्होंने पत्र में कहा है कि 12 मई को ग्राम पंचायत मिलाई बाजार के सभी ग्रामवासियों द्वारा एसईसीएल गेवरा प्रबंधन द्वारा किए गए कार्य के संबंध में बैठक किया गया था। इस दौरान चर्चा उपरांत प्रस्ताव पारित किया गया है। इसमें 18 मार्च को ग्राम पंचायत भिलाई बाजार में पंचायत के बिना अनुमति एवं पूर्व सूचना दिए ड्रोन कैमरा पूरे गांव में घुमाया गया। बाद में जानकारी लिए जाने पर पता चला कि ड्रोन कैमरा एसईसीएस गेवरा महा प्रबंधक एसके मोहंती द्वारा कराया गया, जो कदापि न्यायोचित नहीं है।

उन्होंने कहा कि ग्राम मिलाई बाजार ग्रामीण परिवेश छठवीं अनुसूची के अंतर्गत आता है। ग्राम में बिना किसी सूचना ड्रोन कैमरा द्वारा सर्वे कराया गया। इससे ग्रामीणों में दहशत है और निजिता का भी हनन एसई सी. एल. गेवरा प्रबंधन के द्वारा किया गया है। जिसके कारण ग्रामवासियों में रोष व्याप्त है एवं एसईसीएल गेवरा महाप्रबंधक के प्रति एफआइआर दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

 

उन्होंने कहा कि ग्राम भिलाईबाजार खदान प्रभावित क्षेत्र है, जहां से खदान की दूरी महज 300 मीटक दूरी पर है। प्रबंधन को मना करने के उपरांत भी हैवी ब्लास्टिंग किया जा रहा है। पूर्व में जिला प्रशासन द्वारा प्रबंधन को समझाइश दिए जा चुके हैं उसके उपरात भी हैवी ब्लास्टिंग किया जा रहा है। विरोध किये जाने पर कहा जाता है कि नियमानुसार ही ब्लास्टिंग करते है।

इसलिए भिलाई बाजार चौक में रियेक्टर स्केल की स्थापना किया जाए, इससे भूकंपन को मापा जा सके। उन्होंने कहा कि ग्राम भिलाई बाजार आश्रित मोहल्ला खदान से प्रभावित होने के कारण जल स्तर नीचे चला गया है, इसके कारण गांव के कुआं एवं बोर सुख गया है इससे ग्रामीणों को पीने के पानी के लिए जूझना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि उपरोक्त समस्याओं के निदान कर ग्रामीणों को राहत प्रदान किया जाए।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments