Monday, July 15, 2024
HomeकोरबाOrder Korba : आदेश था, रात 12 बजे तक जिले की सीमा...

Order Korba : आदेश था, रात 12 बजे तक जिले की सीमा से बाहर हो जाएं, दोपहर 12 बजे के बाद भी शहर में घूमते दिखे बाहरी प्रचारक

प्रतीकात्मक तस्वीर

कोरबा। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अजीत वसंत ने मतदान के 48 घंटे पहले जिले के बाहर से आए लोगों को कोरबा की सरहद के बाहर चले जाने के Order दिए थे। इस आदेश के मुताबिक ऐसे लोगों को रविवार की रात 12 बजे तक बाहर हो जाना चाहिए था। पर Orderकी तामील करना तो दूर उसे अंगूठा दिखाते हुए सोमवार को दोपहर 12 बजे के बाद भी कोरबा में बाहरी लोगों का जमावड़ा दिखाई दिया। इस विषय पर केन्द्रीय व राज्य निर्वाचन आयोग में शिकायत के बाद भी ऐसे लोग खुलेआम घूमते दिखाई दिए। वे अब भी शहर के होटल, लॉज, रिसार्ट, धर्मशाला व किराए के मकानों में डटे हुए हैं, जिनकी खोज खबर लेने की फुर्सत जिम्मेदार अमले के पास शायद नहीं है।

लोकसभा निर्वाचन में विभिन्न राजनैतिक दलों के लिए प्रचार करने अन्य संसदीय क्षेत्रों और राज्यों से कोरबा लोकसभा क्षेत्र में आये लोगों को मतदान के 48 घंटे पहले वापस लौटने का आदेश कोरबा जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर अजीत वसंत ने 4 मई को जारी किया है। इस आदेश के बाद भी जिले के होटल, लॉज, रिसार्ट, धर्मशाला व कुछ किराए के मकानों में ऐसे बाहरी लोग आज भी डटे हुए हैं। कलेक्टर के निर्देश की अवहेलना जिले में होने की बात सामने आई है।

पीसीसी ने की राज्य निर्वाचन आयोग से शिकायत

प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने राज्य निर्वाचन आयोग से इसकी शिकायत कर दी है व पीसीसी का प्रतिनिधि मंडल इस विषय पर निर्वाचन आयोग से कल मिल कर बात रखेगा। इसकी शिकायत की जा चुकी है फिर भी इन्हें जिले से बाहर भेजने के लिए कोई कार्यवाही नहीं हो सकी है। कोरबा लोकसभा क्षेत्र की सीमा के बाहर से ये लोग राजनैतिक प्रचार-प्रसार के लिए लाए गए हैं। इनमें ऐसे व्यक्ति शामिल हैं जो कोरबा लोकसभा क्षेत्र की आठों विधानसभाओं में से किसी भी विधानसभा के मतदाता नहीं हैं लेकिन मतदान के 48 घंटे पहले कोरबा लोकसभा क्षेत्र की सीमा से बाहर जाने के Order का पालन नहीं कर रहे हैं।

इसके लिए होटलों और लॉजों के संचालकों से प्रशासन ने सहयोग करने की अपील की है लेकिन अनेक संचालक अपने लाभ के लिए निर्वाचन आयोग के Order की धज्जियां उड़ा रहे हैं। गौरतलब है कि कोरबा लोकसभा क्षेत्र के लिए 7 मई को मतदान होगा। मतदान से 48 घंटे पहले रविवार 5 मई की शाम 6 बजे से राजनैतिक प्रचार थम गया है। इसके बाद रैलियां, जुलूस या सभाएं जैसे किसी भी प्रकार का सार्वजनिक प्रचार नहीं हो रहे हंै लेकिन प्रत्याशी घर-घर संपर्क पर पहुंच रहे है।

मंगलवार को मतदान, रहेगा सार्वजनिक अवकाश

मंगलवार सात मई को मतदान के लिए जिले में सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है। इस दिन सभी शासकीय कार्यालय बंद रहेंगे। इसलिए शासकीय काम से भी आने वाले बाहरी लोग मतदान दिन के बाद ही कोरबा में आ सकेंगे। निर्देश है कि सामाजिक कार्यक्रमों में आने वाले लोग अपने नाते-रिश्तेदारों के घरों में ही रुकें। शादी-ब्याह या अन्य सामाजिक कार्यक्रमों में कोरबा आकर होटलों में रुकने वाले लोगों की जानकारी संबंधित विधानसभा के सहायक रिटर्निंग आफिसर और संबंधित थाना प्रभारी को लिखित में देनी होगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments