Tuesday, July 16, 2024
Homeछत्तीसगढ़मानव तस्करी रैकेट का भंडाफोड़..एक महिला गिरफ्तार, राष्ट्रीय स्तर से जुड़े है...

मानव तस्करी रैकेट का भंडाफोड़..एक महिला गिरफ्तार, राष्ट्रीय स्तर से जुड़े है तार…

जशपुर। जिला पुलिस ने मानव तस्करी गैंग का भंडाफोड़ किया है। पुलिस की सक्रियता से 3 नाबालिग भाई बहन मानव तस्करी का शिकार होने से बच गए। पुलिस ने मामले में एक महिला को गिरफ्तार किया है। वही अन्य फरार आरोपियों की पतासाजी में जुट गई है।

 

बता दें कि 35 वर्षीय महिला ने अपने पड़ोस में रहने वाले सबसे बड़ी लड़की उम्र 14 साल, मंझली लड़की 12 साल एवं सबसे छोटा लड़का जो 10 साल का है। तीनों को बहला फुसलाकर अपने स्कूटी वाहन से दोनों बहनों को उनके घर तपकरा क्षेत्र स्थित घर में लेकर आई और बोली कि-तुम्हारे पिताजी का पैसा निकलेगा, तुम लोग साथ में रहोगे तब मिलेगा, तुम लोग बाहर जाकर काम करोगे तो उसका भी पैसा मिलेगा और तुम लोगों का अमीर घर में विवाह करा दूंगी कहा।

 

फिर आरोपिया तीनों बच्चों को रेल्वे स्टेशन अंबिकापुर में ले जाकर अब मेरे साथ रहना है कहते हुये ट्रेन के माध्यम से अनुपपुर होते हुये अपने घर छतरपुर (मध्य प्रदेश) ले गई। रिश्तेदार की साथियों ने दोनों बहनों को कहा कि-तुम लोग दिल्ली जाकर काम करना, अच्छा पैसा मिलेगा तुमलोगों का शादी भी कराना है, तुम्हारा भाई हमलोगों के पास रहेगा, वे लोग तीनों भाई-बहन को 3-4 दिन अपने पास बंधक बनाकर रखे थे, किसी से बातचीत नहीं करने देते थे। इसी दौरान उन्हें पुलिस की सक्रियता के संबंध में जानकारी मिली एवं दबाव पड़ने पर वह अंबिकापुर तक उन बच्चों को छोड़ दिए।

 

जशपुर जिले के एक गांव में निवासरत उक्त रिश्तेदार आरोपिया को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ करने पर बताई कि वह योजनाबद्ध तरीके से उक्त तीनों बच्चों को बहला-फुसलाकर अपने साथ घर में बिना किसी को बताये ले गई एवं दोनों बच्चियों को शादी करा दूंगी कहकर अपने साथियों को सौंप दी थी। रिश्तेदार ने बच्चियों की शादी कराने के लिये 03 लाख में सौदा कर ली थी जिसका एडवांस वह 20 हजार ले चुकी थी, 10 हजार रू. खर्च हो गये एवं शेष नगदी 10 हजार रू. नगद, स्कूटी वाहन एवं 01 नग मोबाईल को पुलिस द्वारा जप्त किया गया है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments