Friday, February 23, 2024
HomeBreakingपूर्व विधायक के घर मिला कुबेर का खजाना, विदेशी बंदूकें, सोने की...

पूर्व विधायक के घर मिला कुबेर का खजाना, विदेशी बंदूकें, सोने की छड़ें, कई कार्टन शराब

न्यूज डेस्क। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अवैध खनन से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में हरियाणा के कांग्रेस विधायक सुरेंद्र पंवार और पूर्व इनेलो विधायक दिलबाग सिंह के घरों पर तलाशी अभियान चलाया. दिलबाग सिंह के ठिकानों से बड़ी मात्रा में अवैध चीजें बरामद हुई हैं.

ईडी सूत्रों के मुताबिक उनके घर से बड़ी मात्रा में अवैध फॉरेन मेड आर्म्स, 300 कार्टन में अवैध सामान, 100 से ज्यादा शराब की बोतलें, 5 करोड़ रुपये कैश और करीब चार से पांच किलो बुलियन बरामद किया गया है. बड़ी मात्रा में संपत्ति के दस्तावेज भी दिलबाग सिंह के ठिकाने से मिले हैं.

क्या होता है बुलियन?

बुलियन सोने और चांदी के विशुद्ध टुकड़े को कहते हैं, जिसे आधिकारिक तौर पर कम से कम 99.5 प्रतिशत शुद्ध माना जाता है. यह सिल्लियां या बार के रूप में होता है. यह नियम अनुसार केंद्रीय बैंकों द्वारा भंडार में रखा जाता है या संस्थागत निवेशकों द्वारा उनके पोर्टफोलियो पर मुद्रास्फीति के प्रभाव से बचाव के लिए उपयोग किया जाता है. लगभग 20 प्रतिशत खनन सोना दुनिया भर में केंद्रीय बैंकों के पास है. इन्हें घर पर रखना पूरी तरह से अवैध माना जाता है. केंद्रीय बैंक धन जुटाने में मदद करने के लिए सोने को उनके बुलियन रिजर्व से लगभग एक प्रतिशत की दर से बुलियन बैंकों को उधार देता है.

गुरुवार से ही चल रहा है तलाशी अभियान

 

दरअसल, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) हरियाणा के यमुनानगर जिले में कथित अवैध खनन से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच कर रही है. इसी को लेकर प्रदेश के कांग्रेस विधायक सुरेंद्र पंवार और इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) के पूर्व विधायक दिलबाग सिंह के ठिकानों पर गुरुवार को छापेमारी की गई थी.

अवैध खनन से जुड़ा है पूरा मामला

ईडी के अधिकारियों ने बताया कि पूरा मामला इलीगल माइनिंग से जुड़ा हुआ है. मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के अनुसार, यमुनानगर, सोनीपत, मोहाली, फरीदाबाद, चंडीगढ़ और करनाल में दोनों नेताओं और उनसे जुड़े 20 ठिकानों की तलाशी ली. मनी लॉन्ड्रिंग का मामला पिछले दिनों यमुनानगर और आसपास के जिलों में हुए कथित अवैध खनन की जांच के लिए दर्ज की गईं हरियाणा पुलिस की कई एफआईआर के बाद सामने आया है. आरोप है कि अवैध खनन के जरिए बड़ी मात्रा में सोने चांदी और अन्य धातु को छिपा कर तस्करी की जा रही थी, जिसके बाद ईडी ने छापेमारी की है.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments