Sunday, June 16, 2024
Homeछत्तीसगढ़Union Home Minister Amit Shah : अमित शाह का बस्तर दौरा...5 हजार...

Union Home Minister Amit Shah : अमित शाह का बस्तर दौरा…5 हजार जवान कर रहे सर्चिंग

रायपुर। Union Home Minister Amit Shah :  केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह 24 मार्च को छत्तीसगढ़ के बस्तर दौरे पर आ रहे हैं। वे बस्तर जिले के करनपुर में स्थित कोबरा 201/204 बटालियन के कैंप में आएंगे। यहां CRPF के 84वें स्थापना दिवस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। सूत्रों के मुताबिक, अमित शाह लगभग 5 से 7 घंटे कैंप में रुकेंगे।

उनके प्रवास से पहले कैंप के चारों तरफ हरदिन करीब 5 हजार जवान सर्चिंग पर निकल रहे हैं। सड़क-गांव से लेकर जंगलों में सुरक्षाबल तैनात है। ड्रोन कैमरे से भी इलाके में नजर रखी जा रही है।

दो दिवसीय दौरे के दौरान वो पार्टी नेताओं से भी मिलेंगे। प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक गृहमंत्री अमित शाह का दो दिवसीय बस्तर दौरा 24 मार्च से शुरू होगा। 24 मार्च की शाम वो बस्तर पहुंचेंगे, वही 25 मार्च को करनपुर सीआरपीएफ परिसर में राइज़िंग सेरेमनी में गृहमंत्री अमित शाह शामिल होंगे।

सीआरपीएफ के स्थापना दिवस में शामिल होने गृहमंत्री बस्तर पहुंच रहे हैं। कार्यक्रम में पूरे देश से डेढ़ हजार से भी अधिक जवान और अधिकारी शामिल होंगे। इस दौरान 60 से 70 अधिकारी व जवानों को सराहनीय, उत्कृष्ट और वीरता का अवार्ड गृहमंत्री के हाथों मिलेगा। परेड के बाद अमित शाह संबोधन देंगे। माना जा रहा है कि बस्तर दौरे के दौरान गृहमंत्री पार्टी नेताओं से भी मुलाकात करेंगे।

बस्तर में अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) के कार्यक्रम के कई मायने निकाले जा रहे हैं। बस्तर में अमित शाह का पार्टी स्तर पर कुछ कार्यक्रम है या नहीं, इसकी जानकारी नहीं मिल पायी है, लेकिन बस्तर में अमित शाह दौरे के दौरान कुछ चुनावी संकेत जरूर दे सकते हैं। कार्यक्रम में सीआरपीएफ डीजी ,प्रदेश के डीजी सहित कई सीआरपीएफ के उच्च अधिकारी शामिल होंगे। अमित शाह के कार्यक्रम के मद्देनजर स्थानीय एयरपोर्ट में आज ट्रायल लैंडिंग। हुई। कल तक अमित शाह का मिनट टू मिनट प्रोग्राम आ सकता है।

जवान परेड़ कर रहे थे

यह इसलिए की नक्सल प्रभावित इलाका है। सुरक्षा का ध्यान रखा जा रहा है। हालांकि, बातचीत के बाद कैंप के बाहर की तस्वीरें लेने की इजाजत मिली। 20 मिनट इंतजार के बाद CRPF के एक अफसर गेट पर आए। फिर वे हमें परेड स्थल लेकर गए जहां कार्यक्रम की तैयारियां की जा रही थी। सैकड़ों जवान परेड कर रहे थे। यहां कैमरा चलाने की इजाजत नहीं थी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments