Tuesday, February 27, 2024
HomeकोरबाVIDEO : राष्ट्रपति जी...हसदेव अरण्य अब आपकी शरण में है, यह उजड़ा...

VIDEO : राष्ट्रपति जी…हसदेव अरण्य अब आपकी शरण में है, यह उजड़ा तो उजड़ जाएगा आदिवासी समुदाय

0 गोंडवाना गणतंत्र पार्टी कोरबा ने पत्र लिख कर की संरक्षित वन घोषित करने की मांग

कोरबा। महामहिम राष्ट्रपति जी, शासन में बैठे राजनीतिज्ञों की सत्ता की भूख से आज हमारा हसदेव अरण्य खतरे में है। जब कांग्रेस के लोग सत्ता में थे, कहते थे एक भी पेड़ कटने नहीं देंगे। अब भाजपा सरकार आई, तो पेड़ काटने पूरी ताकत लगा दी गई है। दोनो दल एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं और इससे स्पष्ट होता है कि दोनों ही जन विरोधी हैं। यही वजह है जो हसदेव अरण्य क्षेत्र में परसा कोल ब्लाक का विरोध किया जा रहा है। अगर यह उजड़ गया तो यहां का पूरा आदिवासी समुदाय भी उजड़ जाएगा। अब हसदेव अरण्य आपकी शरण में है, इसे सुरक्षित वन क्षेत्र घोषित कर दीजिए।

 

भारत के राष्ट्रपति को यह पत्र गोंडवाना गणतंत्र पार्टी कोरबा की ओर से लिखा गया है। आगे लिखा गया है कि आदिवासी एवं मूलनिवासी जल जंगल के जीव–जंतुओं का नाश हो रहा है।आदिवासियों व यहां के मूल निवासियों के कारण ही जीव जन्तु और जंगल सुरक्षित है। जंगल में रहने वालों की आजीविका जंगल पर ही आधारित है, जहां से प्राप्त वन उपज महुवा, हाठु, लाख, तेंदू, लासा वनों से प्राप्त है होता है। उससे ही अपनी आजीविका चलाते हैं। पर सरकार द्वारा जन विरोधी कार्य किया जा रहा है। आम जन को अपने हितों कि रक्षा के लिए नफरत की आग को समाज से निकाल फेंकने की सक्त जरूरत है। देश हित में जल जंगल जमीन की रक्षा के लिए हम शासन की इस जन विरोधी निति मिलकर विरोध करते हैं। गोंडवाना गणतंत्र पार्टी शासन के जनविरोधी नीतियों का पुरजोर विरोध करती है। उन्होंने राष्ट्रपति से आग्रह किया है कि तत्काल हसदेव अरण्य को सुरक्षित वन घोषित करें।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments